How to Choose Best Health Insurance and Mediclaim Policy in 2020

How to Choose Best Health Insurance and Mediclaim Policy in 2020

How to Choose Best Health Insurance and Mediclaim Policy in 2020


क्या आप बनना चाहते है एक Smart Investor?
उसके लिए हमारे साथ जुड़े रहिए हर पोस्ट के लिए जिसके मदद से आप बन सकते है बेस्ट investor।



कया आपको वी ये चिंता रहती है कि बीमार होने से hospital का बिल कैसे pay करें,खर्चा कैसे उठाएंगे, अगर आप वी आज एक अच्छा health insurance धुंद रहे है तो इस पोस्ट को जरूर पड़े।



नमस्कार दोस्तो,में  Mamun Biswas। शुरू करते है health insurance plan ka खोज।


दोस्तों आज सबसे पहले जानते है कि health insurance का plan कितने types का होता है? ओर उनमें से कोनसा चुनना चाहिए आपको?



1. Accident Cover:-

ये insurance लेने पर आपको कवि accident  हो जाए जिस कारण आपको चोट लगा जाए ओर आप काम पे नहीं जा पाए तब ये काम आता है किउकी तब ये monthly का या लमसम एक बड़ा amount दे देगा। इस Accident Insurance का सबसे अच्छा बात ये है कि इसका जो premium है वो बहुत ही थोड़ा सा होता है। तो देखिए लाइफ insurance  तो हम सब लेते है वी उस cases  पर की अगर हमारा जान को कुछ हो जाए तो परिवार सुरक्षित रहे।लेकिन हमें अगर गहरी चोट लगी है तब हम बेड पर है या काम पर नहीं जा पा रहे है तब इस कैसे पर Accident Cover का काम आता है। ये आपको किसिवी disability  पर पैसा देता है जिससे आपका घर चलता रहे।


2. Critical Illness:-

Critical Illness  पर ये होता है कि जैसे आप rs 25,00000 Cover लिया है तो उसमे कुछ बीमारियों cover होता है जैसे कि Cancer, Heart Attack, Tumor का इस्तरिके का कुछ serious बीमारियों,तो वो कुछ 25 या 26 बीमारियों से ,अगर उपर वाला ना करे कोई भी आपको होगी, तो ये सब बिलकुल वो insurance company नही देखता है कि उसका इलाज पर आपको खर्चा कितना आ रहा है या उसका expensive कितना है, कीउकी अपने 25 lack ka Critical Illness Cover लिया है। तो जैसे ही Hospital ya Doctor का Certificate दिखेगा की आपका ये बीमारी हो गया है आपको सिझा सीखा ये बीमारी के लिए 25 lack दिया जाएगा। ओर बादमें उससे आप अपने खर्चे चलते रहिए। तो Critical Illness policy इसलिए लेना चाहिए की इसमें आपको हॉस्पिटल का बिल या कोई अलग सा प्रूफ देना नहीं है बस Diagnosis or Medical Report ही काफी है।




3. Mediclaim Health Insurance:-

ये आपका दबाई , hospital का खर्चा या Doctor का खर्चा से निपटाते है। तो अगर आप 5 lacs rupees का Mediclaim ले लेते हो तो जब वी आपको हॉस्पिटल पर एडमिट होना पड़े एक दिन से जायदा तो Hospitalization का समय आपका जितना भी खर्चा आयेंगे और उसके बाद कुछ महीना बाद उसका दबाई का जो खर्चा आयेगा वो इस Mediclaim से पूरा हो जाएगा । तो ये आपको Hospital ka खर्चों के लिए जरूर लेना चाहिए।



Confusion

लेकिन Health Insurance को लेकर बहुत सारे Confusion है। समझ नहीं 🙄 आता कि कोनसा ले ओर कोनसा ना ले 🤔।



तो आज इस पोस्ट पर हम discuss करेंगे कि Health Insurance लेने के पहले आपको कोन कोनसा चीज देखना जरूरी है।


1. Pre and Post Hospitalization


Pre and Post Hospitalization  पर कितने दिनोका खर्चा cover होगा । Pre and Post यानी कि अगर आप Admit हुए 1st January को तो उसके कितने दिन पहले से ओर कितने दिन बाद तक आपका जो वी मेडिकल खर्चे हुआ है उसको ये Policy Cover करेगी। तो सबसे अच्छा Hospitalization Policy ये है की जो hospitalization का पिछले 30 दिन ओर Hospitalization का बाद अगले 90 या 120 दिन तक खर्चे को Cover करेगी ताकि आपका वो 3 से 4 महीने तक का सारे खर्चे , बीमारी का खर्चे Cover  होजाए। So Pre and Post Expensive  जरूर देखिएगा।



2. Premium:-

हम Policybazar या इस्तरिका का Website पर जाकर देख सकते है ki 5 lac का या 4lac का जैसा वी cover  आप लेना चाहे,उसमे अलग अलग कम्पनी का कितना Premium  आ रहा है। Premium  में काईबर काफी Difference हो सकता है तो आप Premium का में पैसा बचा सकते है।




3. Bed / Day Charges:-

इसमें ये होता है कि आपको ये देखना है पहले आपके पॉलिसी में सिंगल प्राइवेट रूम का allowed हो। कई पॉलिसी ये होता है कि हम charges तो देंगे लेकिन तवी जब आप twin sharing room or General sharing room or triple sharing room लेंगे ,अगर आप Private Sharing room lenge  तब हम पैसा उस रूम का नहीं देंगे।तो यहां सिर्फ Private Room का बात नहीं है काईबार ऎसा देखा गया है कि रूम जितना अच्छा हो इलाज वी उतना अच्छा मिलता है। General Ward का मैरिज को हो सकता है उतना अच्छा इलाज ना मिले जितना सिंगल रूम वालो को मिले। ऎसेमें आपको। येवी देखना है कि आपको पॉलिसी में जरूर सिंगल रूम में रहने का खर्चा cover होता हो काम से कम 4000 से 5000 रूपए तक।



4. Claim Sattlement:-

यानी कि अगर आप सचमैन insurance company से Claim मानेंगे कि आप हॉस्पिटल में एडमिट हुए हो ओर आपका ये ये खर्चा हुआ है तो तब कितने % chances  है कि वो इंसुरण ए कंपनी आपको पैसा देगी। अब हम नीचे Table पर देख सकते हो कि अलग अलग कंपनी में से सबसे अच्छा Settlement  किसका है।

How to Choose Best Health Insurance and Mediclaim Policy in 2020


उन Company  को Priority दे जिसका Claim Sattlement जायदा है,इसका मतलब ये है कि वो जायदा से जायदा Claim पर सचमैं पैसा देते है। क्यकी कई बार ये होता है कि हम लोग देखकर प्रीमियम देकर पॉलिसी तो खरीदते है लेकिन जरूरत पड़ने पर वो Insurance Company  पैसा देते ही नहीं। तो ऎसेमैन काम प्रीमियम का पॉलिसी लेना बेकार गया ना।



5. Tie-Ups Between Company and Hospital:-

आपको पहले ये देखना होगा कि आप जिस Insurance Company से पोलिसी के रहे हो  उसके साथ आपका आसपास कोई बड़ा हॉस्पिटल के साथ Tie-Ups  है या नहीं जिससे आप Cashless का सबिधा ले सकते हो। अलग अलग कंपनी का अलग अलग हॉस्पिटल के साथ Tie-Ups  होता है।अगर आपके कुछ प्रॉब्लम से या आपको कुछ हो जाता है तो आप जिस hospital  पर admit होंगे उसके साथ आप जिस Company से Insurance लेने वाले हो उसके साथ अच्छा Tie-Ups नहीं है तो आपके लिए claim process बहुत लंबा हो जाता है। तब आपको अपने जेब से पैसे देने पड़ेंगे। फिर Insurance Company को खर्चों का details देना पड़ेगा ओर फिर पैसा generate होते होते 1से 3 महीना लग सकते है,तो तबतक कैश की प्रॉब्लम हो सकती है। इस समय आपको देखना है कि आप जिस Company से Insurance लेने वाले हो उसके साथ आपका अरिया का Hospital का साथ जायदा से जायदा Tie-Ups है ताकि आपको पूरा पैसा देना ही ना हो। पूरा पैसा आपके insurance company बिल उठाके Hospital को दे दे।




6. In-house Claim Sattlement:-

ये टॉपिक आपको बहुत ध्यान देना पड़ेगा। आप वो Insurance Claim Sattlement Company  चुने जिसका Claim Sattlement कोई Third Party Company से ना हो। ये में थोड़ा डिटेल्स में समझाऊंगा, ये बहुत जरूरी है।


कुछ Insurance Company  येसा होता है कि कंपनी तो खुल लिए लेकिन जब Claim का टाईम होता है जो आदमी जाता है ये देखने के लिए कि आप सचमेन एडमिट है या नहीं ,पेपर जांचने है हस्पताल का वो काम वो किसी ओर कंपनी को दे रखे होते है। वो insurance company का बंदा नहीं होता। तो ऎसेमैं ये जो Proffetional Agencies है जो Claim  सच है या नहीं ये देखने आता है  इनको बोलते है  Third Parties Administrator. ओर कैबार ये कंपनी customer को बहुत सताती है।



What is Oriental Insurance policy | Benefits, Buy and Renewal Process 2020 |



सही रिपोर्ट्स बनवाने में बहुत दिक्कत करती है। ऎसेमे वो Insurance Company चुने जो किसी Third Parties का वारिस पर नहीं है,जो Insurance Policies खुद बेचते है ओर Insurance Claim सच है या नहीं। येजाचने के लिए खुद ही आता है किसी Third Parties Company से मदद नहीं लेते है। तो इनको कहते है In-house Claim Sattlement. तो आप उन कंपनी को चुने जिसका In-house Claim Sattlement department  है।





Form Fill up Time:-

इसके अलावा एक और चीज का ध्यान रखे पॉलिसी लेते समय क्यू की ये जो ऑनलाईन Website पर जो Policy बेचते है, वो आपके साथ फोन पर रहती है अपकी पॉलिसी खरीदते टाईम मदद करते है, ओर वो आपसे बहुत जल्दी जल्दी फॉर्म वरवाने की कोशिश करते है। 

क्यू की उनका इंटरेस्ट ये है कि कैसे वी करके पॉलिसी बेच दो। बादमें Claim सच में मिलेगा। यही उसका चिन्ता उन्हें नहीं है। उन्हें तो बस पॉलिसी बेचने से पैसा मिलते है। तो ऎसेमेन ध्यान रखे कि आप जल्दबाजी मैं insurance company का फॉर्म कवि ना Fill करें।






आपको ये ध्यान देना है की इसमें पहले से पूछा जाता है कि आपके बीमारी के बरेमैं की आपका पहले से कोनसा बीमारी है?

सही सही जो वी आपको बीमारी है वो जरूर बताए हो सकता है इससे आपका Claim थोड़ा सा बड़ जाए लेकिन इससे आपको Claim मिलने के Gureentee  जायदा हो जाता है।




कईबर फोन में जो Form fill  कर रहे है वो जल्डवाजी मै हमको दिखवाता नहीं, कईबार हमको दिखता नहीं कि Insurance Company  आपको पूछा है कि सच सच बताए की आपको कोनसा बीमारी है। अगर हम वो नहीं बताते या फिर हम वो बताना बिल जाए है, अगर बाद में हमको कोई बीमारी होती है ,हम हॉस्पिटल में जाते है, जहा ये निकाल के आता है कि हमारी मेडिकल History पर बीमारी थी जो हमने insurance company  को नहीं बताया ,तब आपको claim नहीं मिलेगा।

 थोड़ा Premium बचाने या जल्दबाजी के चक्कर में बीमारी को Disclose करना ना भूले,ये बहुत important है।





तो कोंसी है Best Insurance Policy? कोनसी लेने चाहिए आपको? इसका कोई Clear Answer नहीं है। 

Muchual fund,life insurance पर पॉलिसी recommand किया जा सकता है। लेकिन Medical Insurance पर ये clear नही होता है कि ये depend करता है कि आप कोनसा  city पर रहती है। कोनसा city पर किस company से किस hospital के साथ Tie-Ups अच्छा है।





तो ये बहुत सारे answer पर डिपेंड करता है तो इसलिए इसका कोई Clear Answer नही है।




How to Choose Best Health Insurance and Mediclaim Policy in 2020

लेकिन हमने ये चीज बता दिया कि तो वो 4 से 5 कंपनी है जिसका In-house Claim Sattlement अच्छा है। इनमें से आप claim settlement ratio का किसका जायदा है ये चुने अब आपके पास 2 या 4 option  बचेंगे । जैसे Appolo हो गया, या HDFC  गया, Max हो गया । अब आप इनमें से देखिए किसका साथ आपका आसपास का hospital पर जायदा Tie-Ups है। उसमें से तब 1 या 2 बेचते है। उसमें आप देख लीजिए कि किसका प्रीमियम जायदा है किसका काम है ओर जिसपे जायदा Diseases Cover करेगी। तब आप इस हिसाब से चुन लीजिए। इसमें कोई डायरेक्ट Recomandation नही हो सकता जो सबके लिए सही है।  ये आपके सिटी पर depend करता है।






Top Up and Super Top Up Plan:-

इसका अलावा 2 तरीका का ओर वी Plans होता है । एक होता है Top Up Plan ओर दूसरा होता है Super Top Up Plan. आप जानते है ये क्या होता है। देखिए Mediclaim महंगा होता है । 5 lac का Cover Premium का 10 से 15 हजार आता है। ओर ये सबका बस का बात नहीं है। जिसके लिए 5 या 10 lac का Premium लेना बहुत Affordable होता है उनके लिए। ये solution का है । इसमें क्या होता है कि आप Mediclaim ले लीजिए काम का जैसे 2 lac का। तो तब आपका premium वी काम आयेगा 5 हजार। या7 हजार एंसा। उसके बाद आप एक Top Up Plan ले लीजिए। Top Up Plan तवी आपको पैसा देगा जब आपका खर्चा 3 lac का ऊपर या 4 lac का ऊपर होता है।



तो आप एक Mediclaim ले लीजिए 3 lac का तो उसका premium वी हो गया 6 या 7 हजार। उसके बाद एक Top Up ले लीजिए जो बहुत सस्ता है,जिसपे ये कहा जाता है कि अगर आपका खर्चा 3 lac se जायदा हो गया तो उसके ऊपर 2 lac या 3 lac rupees हम दे देंगे। शुरू पे 3 lac तक वो कुछ नहीं देंगे,जब 3 lac का खर्चा हो जाए तब उससे जायदा कुछ खर्चा हो जाए तो 2 या 3 lac का वो दे देंगे।




Difference Between Top Up Plan And Super Top Up Plan:-

Top Up  सस्ता रहता है।ऎसेही होता है Super Top Up।  अब इन दोनो पे अंतर क्या है? Top Up Plan पर क्या होता है कि आपको एक ही बार यानी आप कुछ दिनों के लिए hospital पर वर्ती हुई,उसके बाद आपका 3 lac का जायदा खर्चा हुआ तब वो आपका वो पैसा दे देगा वो एक ही बार के लिए। Super Top Up पर 1 साल में आपका 3 lac का ऊपर जितना वी खर्चा हो चाहे आप कितने बार hospitalization हो पूरा 1साल में जितना वी खर्चा हो वो आपको से देंगे। Top Up Plan पर 1 बार मैं ही आपको 3 lac cross करना है तवी आपको रिटर्न मिलेगा। इसीलिए top Up Plan avoid करें और सुपर Top Up Plan accept  करें।



Specialized Cancer Care Plan:-

इसके अलावा आजकल specialized Cancer Care Plan वी आने लागे है। देखिए cancer का तो उस Medical Insurance पर cover होता है लेकिन early stage Cancer जैसे कि 1 या 2 स्टेज का cancer cover नहीं होता है। जबतक cancer serious  नहीं जाए तबटक आपको Critical Illness से पैसा नहीं मिलेगा। लेकिन अगर आप Specialized Cancer Care Plan पर लेते है तब उसपे जैसे ही cancer detect होगा आपको पैसा मिलजाएगा।




अब आपको Cancer का प्लान लेना चाहिए या नहीं ये डिपेंड करता है क्या आपका family  पर cancer का history रही या नहीं,किसी relative का cancer  है या नहीं। अगर आपका फैमिली पर किसीको cancer का है या पहले वी था इसे cases पर cancer  होनेका chances जायदा हो जाता है।इसे cases पर आपको जरूर Specialized Cancer Care Plan  लेना चाहिए। 




एकबार हम discuss करेंगे कि आपको कों कोनसी Insurance  लेने चाहिए और आपका पूरा insurance का Bookey कैसा होना चाहिए?

सबसे पहले आपको Mediclaim यानी Health Insurance जरूर लेना चाहिए।
उसके ऊपर अगर आपको लग रहा है कि ये कवर काफी नहीं है तो फिर आप एक Super Top Up Plan का के सकते है।ये काफी सस्ता है।
अगर आपका family पर cancer का कोई है तो आप Specialized Cancer Care Plan  ले सकते है।



FAQ About Health Insurance

Q. क्या आपको Accident Cover  ओर Critical Illness Cover  लेना चाहिए?
Answer:-  हा । आपको जरूर लेना चाहिए। इसे आप Health Insurance का साथ ना ले।

Q. How to buy with this two Plan? 

Answer:- आपको लेना चाहिए Life insurance का साथ। जब आप Pay out term Plan ले रहे हो तब लेना ये । 
क्यूकी Life insurance  पर आपका premium plan fixed  रहता है। अपने अगर एक बार मैं 40 साल का premium  के लिए तो 40 साल तक आपको same premium देना होगा। इसका premium बढ़ेगा नही।तो अगर आप इसके साथ Accident Cover ओर Critical Care illnesses  लेते हो तो 40 साल तक premium fixed  हो जाता है।
अगर आप ये premium Health Insurance का साथ लेते हो तो health insurance पर प्रीमियम fixed नहीं रहता है। वो हर साल दो साल में बड़ता रहता है। इसीलिए ये cover आप life insurance का साथ ले।





हा ओर एक बात आपमें से कुछ लोगो को पास पहले से कोई health plan होगा। तो please comment करके बताएं कि अपने अगर claim लिया होगा तो claim लेने के process  क्या है? Experience कैसा रहा? वो कोंसि company से था? कौनसी स्कीम था? ताकि इस पोस्ट का सारे रीडर्स को एक अच्छा प्लान के बरेमेन पता चले।

Post a Comment

0 Comments